Nextgenpublication.com
logo
book

5

1 ratings and 1 reviews

Ahmiyat (Ahmiyat)

Author -Anamika (R.C.)
Category - Short Stories

Description- कहते हैं इस दुनिया में इंसान आता भी अकेला हैं और जाता भी अकेला हैं। मगर ऐसा नहीं है क्योंकि यह दुनिया ईश्वर ने बनाई है, और ईश्वर यह कभी नहीं चाहेंगे कि उनके बनाए हुए मनुष्य पूरे जीवन अकेला ही रहे, इसीलिए उन्होंने रिश्ते बनाए, जैसे माता-पिता, भाई-बहन, सगे-संबंधी। मगर हर किसी को यह रिश्ते सुकून नहीं दे सकते। कुछ मनुष्य ऐसे भी होंगे जिनके पास रिश्ते होते हुए भी अकेलापन उसे घेरे रहेगा, या फिर रिश्ते तो होंगे मगर सिर्फ नाम के। तब उन्होंने तय किया कि अब एक आखिरी रिश्ता है जिसका निर्माण मनुष्य स्वयं करेगा, जो सुकून यह सारे रिश्ते ना दे सके, वो सुकून सिर्फ यही रिश्ता दे पाएगा। और उस रिश्ते का दर्जा इन सारे रिश्तों से ऊपर माना जाएगा, और जो सबसे अहम है वह यह कि उसमें ईश्वर का कोई दखल, कोई बंधन नहीं होगा। दोस्ती – DOSTI
ISBN - 9788194555339

₹199 /-
Paperback ₹149/-

Reviews

Total 1

by Vinod belkhode        Thu, Jun 2020 07:06

Heart touching story. Very good thinking by writer. I love ahmiyat book. Anamika keep it up.








FEATURED BOOKS